Madhya Pradesh Human Rights Commission

Press Release/ Published News

इंजेक्शन लगने के बाद महिला की मौत
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने जिला अस्पताल दतिया में पेट दर्द से पीड़ित महिला की इंजेक्शन लगाने के बाद मृत्यु हो जाने के मामले में संज्ञान लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, दतिया से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।
13 माह से शिक्षिका थी परेशान, आखिर चली गई जान
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने नीमच जिले के मनासा में विभागीय संवेदनहीनता से एक दिव्यांग महिला शिक्षिका श्रीमती स्नेहलता सोनी को 13 माह से वेतन न मिलने एवं मानसिक प्रताड़ना के कारण दिव्यांग शिक्षिका की मृत्यु हो जाने के मामले में संज्ञान लेकर सीईओ जिला पंचायत नीमच से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है। आयोग ने सीईओ जिला पंचायत नीमच से यह भी पूछा है कि इस मामले में कोई जांच की गई है या नहीं ?
इंसाफ को तरसी आंखें, अफसरों के पास जांच के लिए समय नहीं
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने ग्वालियर जिले के मुरार प्रसूति गृह में 10 दिन पहले डिलेवरी के दौरान एक बच्चे की मौत हो जाने के मामले 10 दिन बाद भी रिपोर्ट तो दूर अब तक जांच भी शुरू नहीं होने के मामले में संज्ञान लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ग्वालियर से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।
कैदी ने पुलिस अभिरक्षा में मारी ब्लेड
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने मुरैना जेल में बंद विचाराधीन कैदी नीतेश जाटव द्वारा पेशी पर ले जाते समय खुद को पेट में ब्लेड मार लेने की घटना पर संज्ञान लेकर पुलिस अधीक्षक मुरैना से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगते हुए पूछा है कि कैदी के पास ब्लेड कैसे आया ?
नहीं हो पा रही पुरूषों की सोनोग्राफी
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने जिला अस्पताल राजगढ़ में एक सोनोग्राफी एवं एक्स-रे डिजिटल मशीन चालू हालत में होने के बावजूद भी पुरूष मरीजों की सोनोग्राफी न होने के मामले में संज्ञान लिया है। आयोग ने इस मामले में प्रमुख सचिव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, भोपाल एवं संचालक स्वास्थ्य संस्थाएं, भोपाल से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।